प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

पीएम बोले, आदिवासियों के लिए बजट 21,000 करोड़ से बढ़ाकर 88,000 करोड़ रुपये किया

अगरतला, 19 दिसंबर (युआईटीवी/आईएएनएस)- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि आदिवासियों के सर्वागीण विकास और कल्याण के लिए बजट को 21,000 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 88,000 करोड़ रुपये कर दिया गया है। अगरतला के स्वामी विवेकानंद मैदान में रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि देश भर में 50,000 से अधिक वन धन केंद्र काम कर रहे हैं, जो नौ लाख आदिवासियों को आजीविका प्रदान कर रहे हैं।

मोदी ने कहा, जैसा कि भाजपा सरकारों ने आदिवासियों के लिए कई कल्याणकारी कदम उठाए हैं, उनकी पहली पसंद भाजपा है। गुजरात में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 27 साल बाद बड़ी जीत हासिल की है। आदिवासी आरक्षित 27 सीटों में से बीजेपी ने 24 सीटों पर जीत हासिल की। त्रिपुरा में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए आदिवासी मतदाताओं को लुभाने के लिए।

प्रधानमंत्री ने आदिवासियों के कल्याण के लिए कई आदिवासी समर्थक योजनाओं और सरकार के प्रयासों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि पहले केवल 100 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय थे, जो अब प्रदेश में बढ़कर 500 हो गए हैं।

आयुष्मान भारत योजना का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि लोगों को गंभीर बीमारियों सहित चिकित्सा उपचार प्रदान करने के लिए पूर्वोत्तर में 7,000 से अधिक स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र स्थापित किए गए। स्वास्थ्य सेवाएं अब लोगों के दरवाजे पर हैं।

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार आदिवासी नेता और स्वतंत्रता सेनानी अबिरसा मुंडा की जयंती के अवसर पर 15 नवंबर को आदिवासी गौरव दिवस के रूप में मनाती रही है और देश भर में 10 आदिवासी संग्रहालय स्थापित किए जा रहे हैं।

मोदी ने मुख्यमंत्री माणिक साहा और उनकी सरकार की सराहना करते हुए कहा कि त्रिपुरा गरीब लोगों को घर उपलब्ध कराने में देश का अग्रणी राज्य है। प्रधानमंत्री ने कई परियोजनाओं का उद्घाटन किया और 4,350 करोड़ रुपये से अधिक की कुछ अन्य परियोजनाओं की आधारशिला रखी और प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी और ग्रामीण दोनों) के तहत लाभार्थियों के लिए ‘गृह प्रवेश’ कार्यक्रम शुरू किया। इन घरों को 3,400 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से विकसित किया गया, जिससे दो लाख से अधिक लाभार्थी लाभान्वित हुए।

मोदी ने अगरतला के बाहरी इलाके में आनंदनगर में पहले राज्य होटल प्रबंधन संस्थान और राजधानी शहर में पहले अगरतला सरकारी डेंटल कॉलेज का भी उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने अगरतला बाईपास (खैरपुर-अमतली) एनएच-08 के चौड़ीकरण के लिए परियोजना का भी उद्घाटन किया, जो अगरतला शहर में यातायात की भीड़ को कम करने में मदद करेगा। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 230 किलोमीटर से अधिक लंबाई की 32 सड़कों और 540 किलोमीटर से अधिक की 112 सड़कों के सुधार के लिए आधारशिला रखी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *